Advertisement

बजट से पहले महंगाई का झटका, एलपीजी सिलेंडर के दाम में हुआ इजाफा, जानें आपके शहर में गैस के नए रेट

फरवरी माह के पहले दिन और बजट आने से कुछ समय पहले ही लोगों को महंगाई का झटका लग गया है। एलपीजी सिलेंडर के...
बजट से पहले महंगाई का झटका, एलपीजी सिलेंडर के दाम में हुआ इजाफा, जानें आपके शहर में गैस के नए रेट

फरवरी माह के पहले दिन और बजट आने से कुछ समय पहले ही लोगों को महंगाई का झटका लग गया है। एलपीजी सिलेंडर के दाम में इजाफा हो गया है। तेल कंपिनयों ने कमर्शियल सिलेंडर की कीमतों को बढ़ा दिया है। ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने कमर्शियल सिलेंडर की कीमतों में 14 रुपये का इजाफा किया है। ये इजाफा 19 किलोग्राम वाले कमर्शियल सिलेंडर के दाम में किया गया है। घरेलू रसोई गैस यानी सब्सिडी वाले 14 किलोग्राम वाले एलपीजी सिलेंडर के दाम में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

दिल्ली में आज से एलपीजी सिलेंडर के दाम 14 रुपये प्रति सिलेंडर बढ़कर 1769.50 रुपये प्रति सिलेंडर पर आ गया है।

कोलकाता में एलपीजी सिलेंडर के दाम 18 रुपये बढ़कर 1887 रुपये पर आ गए हैं।

मुंबई में एलपीजी सिलेंडर के दाम 15 रुपये बढ़कर 1723.50 रुपये प्रति सिलेंडर पर आ गए हैं।

चेन्नई में 19 किलोग्राम वाले कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर के दाम 12.50 रुपये बढ़कर 1937 रुपये प्रति सिलेंडर पर आ गए हैं।

बता दें कि ये सभी दाम सरकारी ऑयल मार्केटिंग कंपनी आईओसी (इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन) की वेबसाइट पर अपडेट हो चुके हैं।

इससे पहले सरकारी तेल कंपनियों ने 1 जनवरी 2024 को 19 किलो वाले कमर्शियल सिलेंडर के दाम में कटौती की थी। पिछले महीने एलपीजी सिलेंडर के दाम में की गई कटौती बेहद मामूली रही थी। देश के अलग-अलग शहरों में 19 किलो वाले कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर के दाम जनवरी में केवल एक-डेढ़ रुपये कम हुए थे। 14 किलो वाले घरेलू एलपीजी सिलेंडर के भाव में जनवरी में भी कोई बदलाव नहीं किया गया था। आखिरी बार घरेलू एलपीजी के रेट में बदलाव 30 अगस्त 2023 को किया गया था।

गौरतलब है कि देश के लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी बजट आज पेश होगा और इसे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 11 बजे संसद में पेश करेंगी। चुनाव से पहले का बजट होने के कारण ये अंतरिम बजट होगा और इसमें आने वाले कुछ ही महीनों के लिए सरकारी आय-व्यय का लेखा जोखा प्रस्तुत किया जाएगा। चूंकि ये चुनाव से ठीक पहले का बजट है तो केंद्र सरकार की कोशिश इसमें हर वर्ग की आकांक्षाओं को साधने की रह सकती है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से
Advertisement
Advertisement
Advertisement