Advertisement

बच्चें स्कूल जा सके इसलिए जालंधर ने पहाड़ को काटकर बना दी 8 किलोमीटर की सड़क

कहा जाता है कि मजबूत इरादे पहाड़ को भी ध्वस्त कर देता है। ओडिशा के जालंधर नायक नाम के एक शख्स ने एक ऐसी...
बच्चें स्कूल जा सके इसलिए जालंधर ने पहाड़ को काटकर बना दी 8 किलोमीटर की सड़क

कहा जाता है कि मजबूत इरादे पहाड़ को भी ध्वस्त कर देता है। ओडिशा के जालंधर नायक नाम के एक शख्स ने एक ऐसी दास्तान लिख दी जो लंबे समय तक याद की जाती रहेगी। इस माउंटेन मैन ने एक विशाल पहाड़ को काटकर आठ किलोमीटर की सड़क बना दी।

उसने इस बड़े काम को इसलिए अंजाम दिया ताकि उनके बच्चे स्कूल जा सकें।

न्यूज एंजेसी एएनआई के मुताबिक, ओडिशा राज्य के कंधमाल के गुमसाही गांव के रहने वाले जालंधर नायक ने गुमसाही गांव से लेकर फुलबानी शहर के बीच पड़ने वाले एक भारी भरकम पहाड़ को काटकर 8 किलोमीटर लंबी सड़क बनाई।

एक तरफ जहां सरकार सुदूर इलाकों में शिक्षा, स्वास्थ्य और सड़क जैसी मूलभूत जरूरतों को पूरी करने में नाकाम रहती है ऐसे में जालंधर की ये कहानी पहाड़ को चुनौती देती इच्छा शक्ति को बयान करने के लिए काफी हैं।

आपको बता दें कि घोर अभाव झेल रहे इलाकों से कई कहानियां निकलकर सामने आती है, जिससे हम प्रोत्साहन ले सकते हैं और हमारी सरकार सबक ले सकती है। इससे पहले बिहार में गया के करीब गहलौर गांव के एक गरीब मजदूर दशरथ मांझी की कहानी काफी चर्चित हुई थी।

बिहार के माउंटेन मैन दशरथ मांझी ने केवल एक हथौड़ा और छेनी से 360 फुट लंबी 30 फुट चौड़ी और 25 फुट ऊंचे पहाड़ को काट के एक सड़क बना डाली थी।

 

 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से
Advertisement
Advertisement
Advertisement