Advertisement

बेंगलुरु के 15 स्कूलों को बम से उड़ाने की मिली धमकी, परिसर कराया गया खाली

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु के कम से कम 15 स्कूलों को शुक्रवार सुबह बम की धमकी वाले ईमेल मिले हैं, जिससे...
बेंगलुरु के 15 स्कूलों को बम से उड़ाने की मिली धमकी, परिसर कराया गया खाली

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु के कम से कम 15 स्कूलों को शुक्रवार सुबह बम की धमकी वाले ईमेल मिले हैं, जिससे अधिकारियों, छात्रों, अभिभावकों और कर्मचारियों के बीच दहशत की स्थिति पैदा हो गई है। समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक सिटी पुलिस को संदेह है कि ईमेल एक धोखा है, हालांकि वे सभी संभावनाओं को खारिज करने के लिए जांच कर रहे हैं।

बम निरोधक दस्ता विभाग सहित अधिकारी किसी भी संदिग्ध वस्तु का पता लगाने और उसे बरामद करने के लिए इन स्कूलों के परिसरों की तलाशी ले रहे हैं। पुलिस ने एहतियात के तौर पर छात्रों और कर्मचारियों को भी स्कूलों से निकाल लिया है और स्कूल अधिकारियों ने अभिभावकों को निर्देश दिया है कि वे अपने बच्चों को जल्दी ले जाएं।

हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, "ईमेल में दावा किया गया है कि स्कूल परिसर में विस्फोटक लगाए गए थे। हमें कमांड सेंटर से एक कॉल आया और हमने तुरंत अपनी टीमों को उन स्कूलों में भेजा जो शहर के विभिन्न हिस्सों में स्थित हैं। स्कूल परिसर से सभी छात्रों और स्टाफ को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है और गहन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। अभी तक कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला है और प्रथम दृष्टया ऐसा लग रहा है कि यह एक फर्जी संदेश है। अभिभावकों को घबराने की जरूरत नहीं है, हमारी टीमें मैदान पर हैं।"

कर्नाटक के गृह मंत्री डॉ जी परमेश्वर ने भी स्थिति पर बात करते हुए कहा, "फिलहाल हमें 15 स्कूलों के बारे में जानकारी मिली है जहां से धमकी भरे ई-मेल मिले हैं, पिछले साल भी ऐसी धमकियां मिली थीं। हम कोई जोखिम नहीं ले सकते, हम स्कूलों का निरीक्षण कर रहे हैं और स्कूलों में सभी एहतियाती कदम उठा रहे हैं। हम धमकी भरे कॉल करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।" हम सभी पहलुओं पर गौर कर रहे हैं।”

धमकी भरा ई-मेल मिलने के बाद कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डी के शिवकुमार ने बेंगलुरु के एक स्कूल का दौरा भी किया। उन्होंने कहा, "मैं टीवी देख रहा था, मेरे घर के सामने वाले स्कूल को भी एक धमकी भरा मेल मिला। मैं जांच करने के लिए यहां आया। अब तक यह एक धमकी भरा कॉल ही लग रहा है। लेकिन हमें इसे लेकर बहुत सतर्क रहना होगा।"

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से
Advertisement
Advertisement
Advertisement