Advertisement

अरविंद केजरीवाल का ऐलान, मेट्रो-डीटीसी बसों में मुफ्त यात्रा कर सकेंगी महिलाएं

आम आदमी पार्टी सरकार ने दिल्ली की महिलाओं को लेकर बड़ा ऐलान किया है। दिल्ली सरकार ने कहा है कि महिलाएं,...
अरविंद केजरीवाल का ऐलान, मेट्रो-डीटीसी बसों में मुफ्त यात्रा कर सकेंगी महिलाएं

आम आदमी पार्टी सरकार ने दिल्ली की महिलाओं को लेकर बड़ा ऐलान किया है। दिल्ली सरकार ने कहा है कि महिलाएं, मेट्रो-डीटीसी बसों में मुफ्त यात्रा कर सकेंगी। महिला मतदाताओं को लुभाने के लिए यह बड़ा कदम माना जा रहा है।

दिल्ली में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होंगे। इसी के मद्देनजर आम आदमी पार्टी सरकार ने महिलाओं को मेट्रो और डीटीसी बसों में मुफ्त यात्रा का तोहफा दिया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बात का ऐलान किया।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इससे महिलाओं में सार्वजनिक परिवहन इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा। अभी तक जो महिलाएं ज्यादा कीमत होने की वजह से अपनी यात्रा टालती हैं वे भी अब बाहर निकलेंगी। केजरीवाल का कहना है कि महिलाओं को मुफ्त यात्रा से मेट्रो-डीटीसी को जो भी नुकसान होगा उसकी भरपाई दिल्ली सरकार करेगी।

सुरक्षा भी अहम मुद्दा

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में महिलाएं असुरक्षित महसूस करती हैं। उनके लिए मुफ्त यात्रा के पीछे यह मुद्दा भी प्रमुख है। उन्होंने कहा है कि उनकी सरकार ने डेढ़ लाख सीसीटीवी लगाने का टेंडर दिया था, 70 हजार सीसीटीवी का सर्वे हो चुका है और 8 जून से इन्हें लगाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। उम्मीद है कि दिसंबर तक यह काम पूरा हो जाएगा।

33 फीसदी है महिला यात्रियों की संख्या

अभी तक बसों और मेट्रो में कुल यात्रियों में 33 फीसदी महिलाएं होती हैं। इस हिसाब से मेट्रो में मुफ्त यात्रा पर करीब एक हजार करोड़ और बसों में 200 करोड़ रुपये सालाना खर्च का बोझ सरकार पर आएगा। अनुमान के मुताबिक यह योजना लागू करने पर मेट्रो और डीटीसी की बसों में सरकार पर सालाना करीब 1200 करोड़ रुपये का अतिरिक्त भार आएगा।

कैसे होगी यह यात्रा

दिल्ली सरकार ने योजना लागू करने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) के अधिकारियों के साथ बैठक की है और योजना लागू करने के लिए राय मांगी है। मुफ्त के लिए अलग पास बनेगा या कोई वैकल्पिक व्यवस्था होगी अधिकारी इस पर मंथन करेंगे।

एक सीट के बाद की कवायद

हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 9 राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों में 40 से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ा था। लेकिन उसको एक ही सीट पर जीत मिली है। माना जा रहा है कि दिल्ली सरकार अपना प्रदर्शन इस तरह नहीं चाहती। इसलिए अगले साल होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारी उसने अभी से शुरू कर दी है।

एजेंसी इनपुट

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से