Advertisement

दिल्ली चलो की अगुवाई करने वाले किसान नेता कौन हैं? राकेश टिकैत का आगे क्या है प्लान?

संयुक्त किसान मोर्चा और किसान मजदूर मोर्चा द्वारा किसान विरोध प्रदर्शन 2024 का आह्वान किया गया है,...
दिल्ली चलो की अगुवाई करने वाले किसान नेता कौन हैं? राकेश टिकैत का आगे क्या है प्लान?

संयुक्त किसान मोर्चा और किसान मजदूर मोर्चा द्वारा किसान विरोध प्रदर्शन 2024 का आह्वान किया गया है, जिसमें 200 से अधिक किसान संघ मंगलवार को दिल्ली की ओर मार्च करेंगे। एमएसपी की कानूनी गारंटी, स्वामीनाथन फॉर्मूला लागू करने आदि की मांग को लेकर दिसंबर 2023 में दिल्ली चलो मार्च की घोषणा की गई थी। यह विरोध किसानों के विरोध की याद दिलाता है जो दिल्ली की सीमाओं पर एक साल तक जारी रहा, जिससे सरकार को तीन कृषि फार्म वापस लेने के लिए मजबूर होना पड़ा। कानूनों से किसान यूनियनों में बहुत कुछ बदल गया है। संयुक्त किसान मोर्चा और भारतीय किसान यूनियन, जिन्होंने 2020 के विरोध का नेतृत्व किया था, अब सबसे आगे नहीं हैं।

संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक)

यह संयुक्त किसान मोर्चा का एक गुट है जिसका गठन नवंबर 2020 में दिल्ली में पहले किसान विरोध का नेतृत्व करने के लिए किया गया था। यह मुख्य एसकेएम से दूर हो गया जबकि एसकेएम ने 2022 में कई अलग-अलग समूहों को देखा। जगजीत सिंह दल्लेवाल के नेतृत्व वाले इस गुट ने कहा कि वे गैर-राजनीतिक हैं।

किसान मजदूर मोर्चा

किसान मजदूर मोर्चा का नेतृत्व सरवन सिंह पंधेर कर रहे हैं। यह संगठन 2020 के विरोध प्रदर्शन का हिस्सा नहीं था। मंगलवार को पंधेर ने कहा कि किसानों का यह विरोध राजनीतिक नहीं है। जो कहा जा रहा है उसके विपरीत प्रदर्शनकारियों को कांग्रेस का समर्थन नहीं है। 

राकेश टिकैत कहां हैं? एसकेएम और भारतीय किसान यूनियन कहां हैं?

एसकेएम ने खुद को दिल्ली चलो मार्च से अलग कर लिया है लेकिन निंदा की है कि कैसे लोगों को डराने के लिए आतंक का माहौल बनाया गया है। एसकेएम और अन्य केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने 16 फरवरी को देशव्यापी हड़ताल और ग्रामीण बंद का आह्वान किया है। एसकेएम ने कहा, "एसकेएम ने पीएम मोदी से यह स्पष्ट करने का आग्रह किया है कि उनकी सरकार लोगों की आजीविका की मांगों पर 16 फरवरी को देशव्यापी ग्रामीण बंद और औद्योगिक/क्षेत्रीय हड़ताल के आह्वान के संदर्भ में किसानों और श्रमिकों के मंच से चर्चा के लिए तैयार क्यों नहीं है?" 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से