Advertisement

जीतने का दावा करने वाले अब गठबंधन सरकार की बात करने लगे : अखिलेश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि कल तक विधानसभा चुनाव में 300 सीटें जीतने का दम भरने वाले मोदी और भाजपा के लोग अब गठबंधन की सरकार की बातें करने लगे हैं।
जीतने का दावा करने वाले अब गठबंधन सरकार की बात करने लगे : अखिलेश

अखिलेश ने आजमगढ़ में सपा प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित चुनावी सभाओं में कहा कि पहले तो प्रधानमंत्री और उनकी पार्टी के लोग कहते थे कि भाजपा 300 सीटें जीतकर आएगी। मऊ तक चुनाव आते-आते वे कह रहे हैं कि गठबंधन की सरकार बनेगी। आजमगढ़ में मोदी इसलिये नहीं आये क्योंकि उन्हें मालूम हो गया है कि यहां की सभी 10 सीटें सपा जीत रही है। सपा अध्यक्ष का इशारा प्रधानमंत्री मोदी द्वारा कल मऊ में अपनी रैली में दिये गये उस बयान की तरफ था, जिसमें उन्होंने सपा और बसपा पर त्रिशंकु विधानसभा बनाने का खेल खेलने का आरोप लगाया था। इसके अलावा केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास आठवले ने भी कल गोरखपुर में कहा था कि अगर भाजपा को पूर्ण बहुमत नहीं मिलता है तो बसपा को उसे समर्थन देना चाहिये।

अखिलेश ने चुनाव के दौर से गुजर चुके क्षेत्राों में बिजली आपूर्ति बाधित किये जाने के प्रधानमंत्राी के आरोप को भी गलत बताते हुए कहा कि एेसी बातें करने से पहले मोदी को पहले चरण के चुनाव से गुजरे किसी भी जिले में बिजली आपूर्ति की स्थिति का पता लगाना चाहिये था। मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा विधानसभा चुनाव उत्तर प्रदेश के भविष्य का चुनाव है। जाहिर है कि इससे जनता का भविष्य भी जुड़ा है। मैंने भाजपा और प्रधानमंत्री से कहा कि जिस जिले में उनका कार्यक्रम हो तो बताएं कि वहां के लिये उनकी सरकार ने क्या काम किया है। तीन साल गुजर गये, मगर कोई भी काम बताने की हिम्मत नहीं जुटा पाये।

उन्होंने गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र सरकार नोटबंदी के बाद सामने आये कालेधन के आंकड़ों को छुपाकर बड़े लोगों को लाभ पहुंचाने की कोशिश कर रही है। अखिलेश ने कहा कि प्रधानमंत्री और भाजपा के लोग नोटबंदी के नाम पर देश को गुमराह कर रहे हैं। वे नोटबंदी से किसको फायदा हुआ, इस पर बहस के लिये जगह तय कर लें। उन्होंने कहा इन लोगों ने पूरे देश को गुमराह करके अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया। हम कहते हैं कि अब तो हिसाब दे दो कि नोटबंदी के बाद कितना काला धन सामने आया, मगर अब तक कोई हिसाब नहीं दिया। इसका मतलब है कि वे कोई ना कोई बात छुपा रहे हैं और बड़े लोगों को लाभ पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं।

 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से