Advertisement

महाराष्ट्र के सियासी संकट को लेकर बोले कमलनाथ, कांग्रेस के विधायक बिकाऊ नहीं हैं

विधायकों के एक समूह की बगावत के बाद शिवसेना की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार के सियासी संकट में घिरने...
महाराष्ट्र के सियासी संकट को लेकर बोले कमलनाथ, कांग्रेस के विधायक बिकाऊ नहीं हैं

विधायकों के एक समूह की बगावत के बाद शिवसेना की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार के सियासी संकट में घिरने को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने बुधवार को कहा कि उनकी पार्टी एकजुट है और इसके विधायक ‘‘बिकाऊ नहीं’’ हैं।

बता दें कि नाथ को मंगलवार को राज्य में राजनीतिक उथल-पुथल के मद्देनजर महाराष्ट्र में एआईसीसी पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया था।

इस बीच कांग्रेस नेता कमलनाथ ने मुंबई में पत्रकारों से बातचीत के दौरान यह भी कहा कि मुझे उद्धव ठाकरे से मिलना था लेकिन वे कोविड पॉजिटिव हो गए। मेरी फोन पर लंबी बात उनसे हुई है। मैंने आश्वस्त किया है कि कांग्रेस के सभी विधायक महा विकास अघाडी की सरकार का समर्थन करेंगे।

साथी ही, कमलनाथ ने यह भी कहा है कि उन्हें(उद्धव ठाकरे) विश्वास है कि शिवसेना के विधायक उनका साथ देंगे। जो बहुत से लोग चले भी गए हैं, वे गलतफहमी में गए हैं, उनका ये विश्वास है। उन्होंने कहा है कि विधानसभा बर्खास्त करने का अभी कोई प्रस्ताव नहीं है।

 

कांग्रेस नेता कमलनाथ ने कहा कि जो भी आज विरोध कर रहे हैं उनको मैं यही कहना चाहता हूं कि कल के बाद परसो भी आता है। मुझे पूरा भरोसा है कि उद्धव ठाकरे जी के नेतृत्व में शिवसेना में फिर से एकता बनेगी। उन्होंने कहा कि अभी हमने कांग्रेस विधायकों के साथ बैठक की है। हमारे 44 में से 41 विधायक मौजूद थे और 3 रास्ते में हैं। कांग्रेस में पूरी एकता है। मैंने उद्धव ठाकरे जी को फोन पर आश्वासन दिया है कि कांग्रेस महाविकास अघाड़ी सरकार का समर्थन करती रहेगी।

वहीं,  महाराष्ट्र के कांग्रेस अध्यक्ष बालासाहब थोराट ने कहा कि हमारे जो 44 विधायक हैं, वे सभी हमारे साथ में हैं। कुछ जगह ग़लत ख़बर आ रही है, मैं विनती करता हूं ऐसी गलत खबर न फैलाएं।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार के दोपहर के आसपास मुख्यमंत्री और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से मिलने की उम्मीद है। बाद में महाराष्ट्र सरकार की एक कैबिनेट बैठक भी होगी। महाराष्ट्र में कांग्रेस शिवसेना और राकांपा के साथ सत्ता साझा करती है।

महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री और कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) के नेता बालासाहेब थोराट के मुंबई स्थित आधिकारिक आवास पर पहुंचने पर पत्रकारों से कमलनाथ ने कहा 'अपने दल के विधायकों का ध्यान रखना शिवसेना का जिम्मा है। वह देखे कि वह अपने विधायकों को कैसे संभालना चाहती है।'

उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता एकजुट हैं। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा 'मुझे यकीन है कि हम एकजुट रहेंगे। कांग्रेस विधायक बिकाऊ नहीं हैं।' कांग्रेस विधायक दल की बुधवार को थोराट के आवास पर बैठक हो सकती है।

गौरतलब है कि मंगलवार की शाम कांग्रेस के 44 में से 42 विधायक पार्टी सचिव एच के पाटिल द्वारा बुलाई गई बैठक में मौजूद थे। कांग्रेस के अनुसार, उसके वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के राहत और पुनर्वास मंत्री विजय वडेट्टीवार आधिकारिक यात्रा पर विदेश गए थे और बुधवार को वह मुंबई पहुंचने वाले हैं, जबकि विधायक सुभाष धोटे भी चंद्रपुर से वापस आ रहे हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से
Advertisement
Advertisement
Advertisement