Advertisement

Search Result : "ata-al-haqe kasmi"

जश्न-ए-अदब और उर्दू की चिंता

जश्न-ए-अदब और उर्दू की चिंता

पाकिस्तान के जाने-माने शायर अता-उल-हक कासमी का कहना है कि उर्दू के विकास और नई पीढ़ी के साथ इसके जुड़ाव को बढ़ावा देना उर्दू प्रेमियों के हाथ में है और उन्हें इस भाषा को जीवित रखने के लिए कदम उठाने चाहिए।
Advertisement
Advertisement
Advertisement