Advertisement

माइक टायसन: एक बदनाम बॉक्सर

बॉक्सिंग की बात करते ही जेहन में सबसे पहले मौहम्मद अली का ध्यान आता है, लेकिन एक मुक्केबाज ऐसा भी है जिसने बॉक्सिंग के खेल को एक अलग ही स्तर पर पहुंचा दिया।
माइक टायसन: एक बदनाम बॉक्सर

हम बात कर रहें दुनिया के सबसे बड़े बॉक्सरों में से एक माइक टायसन की जो अपनी खूंखार बॉक्सिंग शैली के साथ-साथ अपने विवादों के कारण भी मशहूर रहे। रिंग के अंदर की बात हो या बाहर विवादों के साथ उनका चोली दामन का साथ रहा।

टायसन लड़ते-लड़ते कब खूंखार हो जाता था यह बात किसी को पता नहीं चलती थी। कई बार तो टायसन सामने वाले के कान को भी काट लेते थे। आज ही माइक टायसन का जन्मदिन है। माइक टायसन का पूरा नाम माइक जेरार्ड टायसन है, जिनका जन्म साल 1966 में न्यूयॉर्क के ब्रूकलिन में हुआ था। माइक बचपन से ही आपराधिक गतिविधियों में शामिल रहे। जेब काटना, दुकानों में लूटपाट करने और मारपीट करने के मामलों में वह 13 साल की उम्र तक 38 बार गिरफ्तार हो चुके थे।

मायक टायसन के नाम सबसे कम उम्र में वर्ल्ड बॉक्सिंग काउंसिल (WBC) खिताब जीतने का रिकॉर्ड है, जो उन्होंने सिर्फ 20 साल 4 महीने और 22 दिन की उम्र में ही जीत लिया था। खिताबी जीत के बाद टायसन का नाम ‘आयरन मैन’ पड़ गया था।

इतना ही नहीं सबसे कम उम्र में इंटरनेशनल वर्ल्ड बॉक्सिंग एसोसिएशन (20 साल 4 महीने) और इंटरनेशनल बॉक्सिंग फेडरेशन (22 साल) हैवीवेट चैंपियन बनने का रिकॉर्ड है। वह यह तीनों चैंपियनशिप जीतने वाले पहले बॉक्सर थे। टायसन ने अपने पहले 19 पेशेवर मुकाबलों में नॉकआउट जीत हासिल की। इसमें से 12 मुकाबले तो पहले ही राउंड में ही खत्म हो गए थे।

साल 1990 में कमाई के मामले में उन्होंने बॉस्केटबाल माइकल जॉर्डन को भी पीछे छोड़ दिया था। उस साल उनकी कमाई 2.86 करोड़ डॉलर रही थी। माइक टायसन ने अपने जीवन में कुल 58 फाइट खेली जिसमें से 50 में अपने विरोधियों को धूल चटाई। इन 50 जीत में उन्होंने 44 मुकाबलों में नॉकआउट जीत हासिल की जो अपने आप में एक रिकार्ड है।

साल 1992 में माइक टायसन को 18 साल की मिस ब्लैक अमेरिका पेजेंट प्रतियोगी डेसैरी वॉशिंगटन के रेप के लिए 10 साल की सजा हुई थी और 30 हजार डॉलर का जुर्माना भी लगाया गया था। इंडियाना यूथ सेंटर में 3 साल 6 हफ्ते की सजा काटने के बाद उन्हें रिहा कर दिया गया।

 

माइक टायसन वैसे तो एक बेहतरीन मुक्केबाज थे, मगर उन्हें अपने गुस्से पर काबू नहीं था। कई बार वह फाइट के दौरान इतने उग्र हो जाते थे कि खेल के नियमों को भूल जाते थे। ऐसी ही एक हरकत उन्होंने 28 जून 1997 को एमजीएम ग्रैंड गार्डन अरेना में हुए हैवीवेट चैंपियनशिप में की। इस मुकाबले में माइक टायसन ने अपने प्रतिद्वंदी इवांडर होलीफील्ड का कान काट लिया। मैच के तीसरे राउंड में जब टायसन ने होलीफिल्ड को पहली बार काटा तो रैफरी ने मैच रोक दिया, लेकिन मैच दोबारा शुरू होने के बाद टायसन ने दोबारा होलीफिल्ड काट लिया।

टायसन ने इस बार होलीफील्ड के दाएं कान को इतने ज़ोर से काटा था कि होलीफील्ड के कान का उपरी हिस्सा अलग होकर जमीन पर गिर गया। इस मैच के बाद रैफरी ने टायसन को अयोग्य घोषित कर होलीफील्ड को विजेता घोषित कर दिया था। इस घटना के लिए उन पर 3 मिलियन डॉलर का जुर्माना लगा और एक साल के लिए उनका बॉक्सिंग लाइसेंस रद्द कर दिया गया।

इस घटना के एक साल बाद ही टायसन पर एक एक्सीडेंट के दौरान दो लोगों के साथ मारपीट करने का आरोप लगा, जिसके लिए 5 फरवरी 1999 को उन्हें एक साल की सजा सुनाई गई। पूर्व हैविवेट चैम्पियन माइक टायसन ने एक बार लाइव प्रोग्राम के दौरान ही टीवी के एंकर को गाली तक दे डाली। दरअसल टायसन को टीवी प्रोग्राम के दौरान कनाडा के बिजनेसमैन रॉब फोर्ड का सपोर्ट करने के कारण बुलाया गया था। रॉब और माइक टायसन दोस्त थे। टायसन इस प्रोग्राम में रॉब चुनाव के लिए सपोर्ट करने आए थे। यह प्रोग्राम लाइव चल रहा था और अमेरिका सहित कई देशों में प्रसारित किया जा रहा था।

लाइव प्रोग्राम के शुरू होने से कुछ ही देर बाद कनेडियन टीवी एंकर डॉनर ने उनसे 1990 में हुए 18 वर्ष की लड़की के रेप केस के बारे में एक सवाल कर दिया। बस फिर क्या था, टायसन ने सवाल के जवाब में गालियां देनी शुरू कर दी। इसी बीच डॉनर ने उन्हें बताया कि टायसन ये प्रोग्राम लाइव चल रहा है तो टायसन और भड़क गए। उन्होंने कहा, "मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। यह लाइव हो या नहीं।"

टायसन ने तीन शादियां की जिससे उन्हें सात बच्चे हैं। उनकी पहली शादी हुई एक्ट्रेस रॉबिन गिवेंस से 7 फरवरी 1988 को हुई जो सिर्फ 1 साल तक चली। इसके बाद उन्होंने साल 1997 में मोनिका टर्नर से शादी की जो 2003 तक चली। साल 2002 में हैवीवेट खिताब के लिए माइक टाइसन और लेनॉक्स लुइस भिड़े थे, जिसमें लुइस ने टाइसन को आठवें राउंड में नॉकआउट कर दिया।

डैनी विलियम्स और केविन मैकब्राइड से लगातार दो नॉकआउट हार के बाद साल 2005 में माइक टायसन ने मुक्केबाजी से रिटायरमेंट ले लिया। माइक टायसन के जीवन पर बनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म “टायसन” मई 2008 को कान फिल्म फेस्टेवल में प्रदर्शित की गई।

साल 2011 में माइक टायसन को इंटरनेशनल बॉक्सिंग हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया। टायसन ने साल 2014 में अपने बचपन की एक घटना का खुलासा कर सबको चौंका दिया। उन्होंने बताया कि जब वह केवल सात साल के थे तब एक अनजान व्यक्ति ने उसके साथ यौन दुर्व्यवहार किया था। टायसन हॉलीवुड फिल्म हैंगओवर और हैंगओवर पार्ट-2 में भी एक्टिंग करते हुए नजर आ चुके हैं।

गुस्सैल स्वभाव के इतर टायसन को जानवर और पक्षियों से काफी लगाव है. उन्होंने अपने आलीशान बंगले में तीन बंगाल टाइगर पाल रखे हैं। माइक टायसन को बचपन से ही कबूतरों से बहुत प्यार था। उनके इसी प्यार के चलते साल 2010 में एनीमल प्लेनेट ने उनके साथ मिलकर टीवी सीरीज “टैकिंग ऑन टायसन” की शुरूआत की। यह टीवी शो कबूतर पर आधाऱित था।

जिंदगी से थके और निराश माइक आजकल टायसन परिंदों के बीच अधिक समय बिताते हैं। टायसन इन दिनों काफी बीमार रहने लगे हैं। आज टायसन को लगता है कि इन्होनें वाकी काफी क्रूरता से भरी जिंदगी जी है।

 

 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से