Advertisement

बॉलीवुड पैपराजी: इंटरव्यू/विरल भयानी ‘जो दिखे वही बिके’

विरल भयानी बॉलीवुड के सबसे चर्चित सेलिब्रिटी फोटोग्राफर हैं। फिल्मी हस्तियों के साथ दर्शकों का भी...
बॉलीवुड पैपराजी: इंटरव्यू/विरल भयानी ‘जो दिखे वही बिके’

विरल भयानी बॉलीवुड के सबसे चर्चित सेलिब्रिटी फोटोग्राफर हैं। फिल्मी हस्तियों के साथ दर्शकों का भी प्यार हासिल है। पैपराजी कल्चर बढ़ने के बाद, विरल भयानी तमाम वेबसाइट, मीडिया संस्थानों को चर्चित हस्तियों की तस्वीरें उपलब्ध कराने का काम कर रहे हैं। प्रतीक सुर से बातचीत में उन्होंने पैपराजी कल्चर की जटिलताओं पर बात की। संपादित अंश:

 

सेलेब्रेटी आपसे या टीम से दुर्व्यवहार करते हैं तो क्या उनका बॉयकॉट करते हैं?

 

सब व्यक्ति के मूड पर निर्भर करता है। कई बार इंसान व्यस्त होता है और हम इसे अहंकार मान लेते हैं। इसी से ऐसी परिस्थितियां पैदा हो जाती हैं। मगर इससे काम का नुकसान होता है। हमारी कोशिश रहती है कि किसी भी कीमत पर काम प्रभावित न हो। हम बॉयकॉट, झगड़े, बहस से दूर रहते हैं। अप्रिय स्थिति पैदा होती है, कड़वे अनुभव रहते हैं तो उन्हें भूलकर आगे बढ़ जाते हैं। काम करने के लिए यही जरूरी है। हमारा काम कमरे में बैठकर नहीं होता। उसमें बहुत संघर्ष और दौड़-भाग है।

 

सबसे खराब अनुभव क्या रहा?

 

यह आपकी जिंदगी छीन सकता है। आप किसी फिल्म सेलेब्रिटी की तस्वीर लेने के लिए उसकी गाड़ी के पीछे दौड़ रहे हैं, किसी दूसरी गाड़ी ने टक्कर मार दी, तो गंभीर रूप से जख्मी हो सकते हैं। हाल ही में एक फोटोग्राफर अनन्या पांडे के घर के बाहर चोटिल हो गया। इसके लिए आप किसी सेलिब्रिटी को दोषी नहीं ठहरा सकते। कई बार चर्चित हस्तियों के बॉडीगार्ड धक्का देकर भीड़ को किनारे करते हैं। उसमें भी कई बार पैपराजी फोटोग्राफरों को चोट लगने का खतरा होता है। उस बॉडीगार्ड के खिलाफ केस कर भी दें तो इससे क्या होगा। सेलिब्रिटी को कभी दोषी नहीं माना जाएगा।

 

फिल्मी सितारे अच्छा व्यवहार नहीं करते तो आप क्या करते हैं?

 

जिस सेलिब्रिटी का व्यवहार खराब होता है तो हम उसे अकेला छोड़ देते हैं। उनकी तस्वीरें नहीं खींचते। न उनका घर हमारी वजह से चलता है, न हमारी पूरी निर्भरता उन पर है। बाजार में कई मौके और चेहरे हैं। सबका काम चलता रहता है। जब भी कोई व्यक्ति अशिष्ट व्यवहार करता है, हम उससे दूरी बना लेते हैं। बाद में उनके मैनेजर और पीआर टीम से बातचीत कर स्थिति समझने का प्रयास करते हैं। बाद में यही सेलिब्रिटी अपनी फिल्म रिलीज के समय हमारे लिए पलकें बिछाए रहते हैं। यानी उन्हें भी हमारी जरूरत है। इस बात को समझकर धैर्य के साथ काम करने की कोशिश रहती है।

 

सेलिब्रिटी मना करते हैं तो क्या आप फोटो क्लिक नहीं करते?

 

हम सभी की भावनाओं का सम्मान करते हैं। विराट कोहली और अनुष्का शर्मा ने हमसे कहा था कि उनकी बेटी की तस्वीरें क्लिक न करें। हमने उनके आग्रह का मान रखा। वैसे भी सिनेमा और खेल जगत में चर्चित हस्तियों का अकाल नहीं है। खेल, सिनेमा, टेलीविजन जगत में ऐसे लोग बड़ी तादाद में हैं, जो चाहते हैं कि हम उनको अपने पेज पर प्रमोट करें। हर दिन 20 से 25 अभिनेत्रियां हमारे पास आती हैं और चाहती हैं कि उन्हें हमारे पेज पर फीचर किया जाए और नेपोटिज्म से लड़ाई लड़ी जाए।

 

आप लोगों को कई मसालेदार खबरें मिलती होंगी, फिल्मी हस्तियों के एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के बारे में भी मालूम पड़ता होगा?

 

बिल्कुल। मगर हम नहीं चाहते कि किसी की निजी जिंदगी की उथल-पुथल को वायरल कर हम पैसा कमाएं। किसी भी कीमत पर पैसा कमाना हमारा उद्देश्य नहीं है। इसलिए ख्याल रखते हैं कि क्या पोस्ट किया जा रहा है। कौन-सी बात उन्हें गहरी पीड़ा दे जाए, हम नहीं जानते। सोशल मीडिया अकाउंट पर ब्लू टिक नहीं है या किसी ने आपको टैग नहीं किया तो लोग बेचैन हो जाते हैं। ऐसी स्थिति में काम करते हुए विशेष सावधानी बरतनी पड़ती है। हमारी किसी पोस्ट से किसी का करिअर तबाह हो जाए या कोई मानसिक तनाव में आ जाए, हम ऐसा नहीं चाहते।

 

आर्थिक ढांचा किस तरह का है?

 

यह दौर बाजारवाद का है। जो दिखता है, वही बिकता है। चारों ओर बेचे जाने की प्रवृत्ति हावी है। जो दर्शकों को पसंद है, वही बनाया जाता है, वही दिखाया जाता है। उर्फी जावेद से न मेरी दोस्ती हैं न मुझे उनसे पैसे मिलते हैं। लेकिन दर्शक उन्हें देखना पसंद करते हैं। इसलिए हम सभी उनका कंटेंट ज्यादा शेयर करते हैं। दर्शक उर्फी जावेद के जीवन, कपड़े, विचार से प्रभावित रहते हैं, उन्हें मजा आता है, उनका मनोरंजन होता है। यह बात पैपराजी समझ चुके हैं। इसलिए कंटेंट तैयार करने से लेकर पेश करने तक, सबका ध्यान रखा जाता है। दूसरी बात यह कि लोगों को नकारात्मक बातें करने, गालियां देने में मजा आता है। उर्फी जावेद और उन जैसी तमाम अभिनेत्रियां, जो बेबाकी से अपनी बात रखती हैं, उनका सामना नकारात्मक टिप्पणियों से होता है। इसी से व्यूज आते हैं, फॉलोअर आते हैं और पैसा बनाने का कारोबार चलता रहता है।

 

पैपराजी फोटोग्राफरों की समस्याओं के विषय में बताएं?

 

सबसे बड़ी चुनौती तो चोटिल होने की है। मैं कई बार गिरकर चोटिल हुआ हूं। एक बार मैं श्रद्धा कपूर के सामने गिर गया और बुरी तरह जख्मी हुआ। सेलिब्रिटी के सुरक्षाकर्मियों से भी कई बार झड़प हो जाती है, जिससे कानूनी मामले बन जाते हैं।

 

क्या ऐसे कोई सेलिब्रिटी हैं, जो पैपराजी फोटोग्राफरों से बेहतर व्यवहार करते हैं?

 

कुछ लोग हैं, जो अच्छा व्यवहार करते हैं। यह एक स्वार्थी दुनिया है। जब भी कोई तकलीफ होती है तब अच्छे लोग सामने आते हैं। किसी चीज की जरूरत है तो अपनी तरफ से सहयोग जरूर करते हैं। वे हमसे खाने के बारे में पूछते हैं। पानी आदि पूछ लेते हैं। कोरोना महामारी के दौरान कई कलाकार आगे आए और उन्होंने हमारी हर संभव मदद की। वे सभी हमारे साथ खड़े रहे और उन्होंने आर्थिक सहयोग करके हमें कठिन परिस्थितियों में ढांढस बंधाया।

 

पैपराजी जगत में सबसे ज्यादा चर्चित कौन है?

 

राखी सावंत मसालेदार और वायरल कंटेंट देने में माहिर हैं। इसलिए हम सभी पैपराजी की वे सबसे पसंदीदा सेलिब्रिटी हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से