Advertisement

ये बातें मानी तो टाल सकते हैं स्ट्रोक को

चलता-फिरता आदमी अचानक गिर जाए और उसके शरीर के किसी खास अंग को लकवा मार जाए या फिर उसकी बोली चली जाए या उसकी याद्दाश्त गुम हो जाए और कई बार मरीज की मौत हो जाए तो ऐसे मामलों में सबसे बड़ी आशंका दिमागी स्ट्रोक का शिकार होने की होती है। इसमें दिमाग के किसी खास हिस्से में खून के थक्के बन जाते हैं और उसके कारण उस खास हिस्से से संचालित होने वाले शरीर के अंग अचानक काम करना बंद कर देते हैं।
ये बातें मानी तो टाल सकते हैं स्ट्रोक को

 

आमतौर पर माना जाता है कि ब्रेन स्ट्रोक अचानक होने वाली चीज है और इसे रोका नहीं जा सकता। मगर अब शोधकर्ताओं ने पाया है कि अगर लोग 10 बातों का ध्यान रखें तो स्ट्रोक के 10 में से 9 मामलों को टाला जा सकता है। यह शोध कनाडा के मैकमास्टर विश्वविद्यालय में किया गया और इसका निष्कर्ष यह निकाला है कि यदि आप चाहें तो ब्रेन स्ट्रोक को टाल सकते हैं। इसके लिए जो 10 चीजें इन शोधकर्ताओं ने बताई हैं वो नई नहीं हैं, आमतौर पर डॉक्टर इसकी सलाह देते रहे हैं मगर पहली बार अध्ययन के जरिये यह साबित किया गया है कि इन सलाहों पर अमल से स्ट्रोक से बचा जा सकता है।

जिन 10 बातों का आपको ध्यान रखना है उनमें अपने रक्तचाप को नियंत्रण में बनाए रखना, वजन को कम रखना, कसरत करना, स्वस्‍थ्य भोजन करना, मधुमेह से बचे रहना, कोलेस्ट्रोल को कंट्रोल में रखना, शराब का सेवन कम करना, धूम्रपान को त्याग देना, तनाव को कम करने के उपाय करना और हृदय गति को अनियमित होने से बचाने वाली दवा का सेवन करना शामिल है। इस शोध में शामिल विशेषज्ञों ने यह भी पाया कि सभी जोखिम घटकों में से सिर्फ रक्तचाप को नियंत्रित रखने से ही स्ट्रोक का खतरा आधा हो जाता है।

मैक मास्टर यूनिवर्सिटी का शोध अंतरराष्ट्रीय स्वास्‍थ्य पत्रिका लांसेट में प्रकाशित हुआ है और इसमें पूरी दुनिया के 27 हजार स्ट्रोक मरीजों की जीवनशैली की तुलना उन लोगों से की गई है जो स्वस्‍थ्य जीवन जी रहे हैं। इस अध्ययन में पाया गया है कि पूरी दुनिया में स्ट्रोक का सबसे बड़ा गुनहगान उच्च रक्तचाप है क्योंकि स्ट्रोक के 47.9 फीसदी मामले इसके वजह से होते हैं, दूसरे नंबर पर शारीरिक गतिविधियों का नंबर है जो 23.3 फीसदी स्ट्रोक मामलों की वजह है और खराब भोजन के कारण 18.6 फीसदी स्ट्रोक के मामले होते हैं।

इस शोध से जुड़े और मैकमास्टर यूनिवर्सिटी के डॉक्टर मार्टिन ओडोनेल ने कहा कि यह अध्ययन साबित करता है कि दुनिया में स्ट्रोक का सबसे बड़ा खलनायक हाई ब्लड प्रेशर ही है। उन्होंने यह भी कहा कि इस शोध से पूरी दुनिया में अब स्ट्रोक को काबू में रखने का कारगर हथियार मिल सकेगा। 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से