Advertisement

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, ‘भारत जोड़ो यात्रा’ चुनाव जीतने के लिए नहीं है

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने सोमवार को कहा कि राहुल गांधी की अगुवाई वाली ‘भारत जोड़ो...
मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, ‘भारत जोड़ो यात्रा’ चुनाव जीतने के लिए नहीं है

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने सोमवार को कहा कि राहुल गांधी की अगुवाई वाली ‘भारत जोड़ो यात्रा’ चुनाव जीतने के लिए नहीं बल्कि देश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) द्वारा फैलाई गई नफरत के खिलाफ है।

भारी हिमपात के बीच ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के समापन पर श्रीनगर में एक रैली में खरगे ने यह भी कहा कि गांधी जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल करने के लिए दृढ़ हैं।

खड़गे ने कहा, ‘‘यात्रा चुनाव जीतने के लिए नहीं बल्कि नफरत के खिलाफ थी। भाजपा के लोग देश में नफरत फैला रहे हैं। राहुल गांधी ने साबित किया है कि वह बेरोजगारी तथा महंगाई जैसे मुद्दों पर कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक देश को एकजुट कर सकते हैं।’’

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आरएसएस और भाजपा देश में गरीब-अमीर की खाई को और चौड़ा बनाने की नीति अपना रहे हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘(प्रधानमंत्री नरेंद्र) मोदी जी, आरएसएस और भाजपा चाहते हैं कि गरीब लोग गरीब ही रहें तथा अमीर लोग और अमीर बन जाएं। 10 फीसदी लोग देश की 72 फीसदी संपत्ति लूट रहे हैं जबकि 50 प्रतिशत लोगों के पास महज तीन प्रतिशत संपदा है।’’

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने रैली में कहा कि शुरूआत में उन्हें आशंका थी कि क्या लोग यात्रा में शामिल होंगे। उन्होंने कहा, ‘‘मेरा भाई पिछले पांच महीने से कन्याकुमारी से पैदल चल रहा है। पहले मैंने भी यह सोचा था कि यह लंबी यात्रा है, पता नहीं, लोग बाहर निकलेंगे या नहीं। लेकिन वे हर जगह बाहर निकले। वे इसमें शामिल हुए क्योंकि देश के लोगों में एकता की भावना है।’’

प्रिंयका ने कहा कि राहुल गांधी ने जम्मू कश्मीर में प्रवेश करते वक्त उनकी मां सोनिया गांधी को एक संदेश भेजा कि वह घर जा रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘पूरे देश ने यात्रा का समर्थन किया। देश में जो राजनीति हो रही है, उससे देश को फायदा नहीं हो सकता। जो राजनीति विभाजित करती है वह देश को लाभ नहीं पहुंचा सकती। पदयात्रा करने वाले लोगों ने उम्मीद की एक किरण दिखायी है।’’

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से