Advertisement

देशमुख की गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित, एमवीए नेताओं को बदनाम करना चाहता है केंद्र: नवाब मलिक

राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने मंगलवार को कहा कि महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की...
देशमुख की गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित, एमवीए नेताओं को बदनाम करना चाहता है केंद्र: नवाब मलिक

राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने मंगलवार को कहा कि महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित है और इसका उद्देश्य राज्य की महा विकास अघाड़ी सरकार के नेताओं की छवि खराब करना है। केंद्र पर निशाना साधते हुए महाराष्ट्र सरकार में मंत्री मलिक ने कहा कि सत्ता का दुरुपयोग करके नेताओं को डराना बंद किया जाना चाहिए।

मलिक ने संवाददाताओं से कहा, “पूरी कार्रवाई (देशमुख को गिरफ्तार करने की) राजनीति से प्रेरित है। इसका उद्देश्य महा विकास अघाड़ी (शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन) के नेताओं को डराना है।

राज्य पुलिस प्रतिष्ठान में एक कथित जबरन वसूली रैकेट से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 12 घंटे से अधिक की पूछताछ के बाद सोमवार देर रात देशमुख को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार किया। उन्होंने कहा, “कानून अपना काम करेगा। अगर आप लोगों को फंसाएंगे तो सच्चाई किसी दिन सामने आ जाएगी।'

उन्होंने कहा कि केंद्र को मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह पर सफाई देनी चाहिए, जिन्होंने देशमुख पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। सिंह लापता है और उसके खिलाफ दो अलग-अलग मामलों में दो गैर जमानती वारंट जारी किए गए हैं। अतीत में, एमवीए नेताओं ने सिंह के लापता होने के पीछे केंद्र के हाथ का आरोप लगाया है।

देशमुख की गिरफ्तारी को राज्य में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार के लिए एक झटके के रूप में देखा जा रहा है। पिछले महीने, एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने केंद्र पर एमवीए शासन को टारगेट करने के लिए अपनी एजेंसियों का उपयोग करने का आरोप लगाया था। महाराष्ट्र के सत्तारूढ़ गठबंधन के कुछ नेताओं की जांच विभिन्न केंद्रीय एजेंसियों द्वारा की जा रही है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से