Advertisement

उज्जैन में राज्य स्तरीय रोजगार दिवस कार्यक्रम में बोले मुख्यमंत्री शिवराज, अगले साल फिर निकाली जाएंगी 1 लाख सरकारी भर्तियां

उज्जैन में लगने वाले इन उद्योगों में जिले के बच्चे 'मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ योजना' के अंतर्गत काम...
उज्जैन में राज्य स्तरीय रोजगार दिवस कार्यक्रम में बोले मुख्यमंत्री शिवराज, अगले साल फिर निकाली जाएंगी 1 लाख सरकारी भर्तियां

उज्जैन में लगने वाले इन उद्योगों में जिले के बच्चे 'मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ योजना' के अंतर्गत काम सीखने के साथ ही ₹10 हजार भी कमाएंगे। प्रदेश में अगले साल फिर 1 लाख सरकारी नौकरियां निकलेंगी। यह बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कही। वे उज्जैन में आयोजित राज्य स्तरीय रोजगार दिवस समारोह में अपनी बात रख रहे थे।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि अध्यात्म का केंद्र उज्जैन अब उद्योगों का केंद्र भी बनने जा रहा है। आज पूरे राज्य में आज 15 एमएसएमई क्लस्टर का भूमिपूजन और लोकार्पण हुआ है। राज्य स्तर पर 552 उद्योगों की स्‍थापना होगी। इनमें 28,300 लोगों को रोजगार मिलेगा। साथ ही 1708 इकाइयों का आज लोकार्पण हुआ है इसमें लगभग 16,375 लोगों को रोजगार मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उज्जैन अब रुकने वाला नहीं है। उज्जैन की पूरी अर्थव्यवस्था ही बदल गई है। सावन के महीने में सवा दो करोड़ भक्त आए और महाकाल महाराज की पूजा करके गए। प्रतिदिन डेढ़ लाख भक्त उज्जैन आ रहे हैं। महाकाल महाराज की कृपा से हमारी अवंतिका नगरी तीन लोक से न्यारी होगी।
 
आपको बता दें कि उज्जैन में शुक्रवार को आयोजित राज्य स्तरीय रोजगार समारोह में 15 एमएसएमई क्‍लस्‍टर, 27 विभागीय औद्योगिक क्षेत्रों में अधोसंरचना विकासकार्यों, 43 मध्यम श्रेणी की इकाइयों और सूक्ष्म व लघु उद्योगों का भूमिपूजन व लोकार्पण हुआ। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी बहनों को गारंटी देते हुए कहा कि मेरी लाड़ली बहनों, ये शिवराज की गारंटी है। 'मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना' की राशि बढ़कर ₹3,000 तक पहुंचने वाली है। उन्होंने कहा कि मध्‍य प्रदेश की धरती पर कोई भी गरीब जमीन के बिना नहीं रहेगा, सबको जमीन देकर पक्‍के मकान बनाए जाएंगे।
 
इन विकास कार्यों की दी सौगात
 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन जिले में 554.89 करोड़ रुपये के 9 विकास कार्यों और राज्य स्तर पर 15 क्लस्टर्स का भूमिपूजन किया।
 
ये कमलनाथ का नकली चेहरा है
 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि यह वही कमलनाथ हैं, जिन्होंने सौंसर में छत्रपति शिवाजी महाराज के प्रतिमा नहीं लगने दी थी। छत्रपति शिवाजी महाराज का अपमान करने का पाप कमलनाथ जी ने किया था। अब शिवाजी महाराज की प्रतिमा लगाने का काम कर रहे हैं। नकली चेहरा सामने आए, असली सूरत छुपी रहे उसका उदाहरण कांग्रेस के नेता कमलनाथ जी हैं।
 
महाकाल की कृपा से अर्थव्यवस्था में भारी वृद्धि
 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि महाकाल महाराज की कृपा तो देखो, रोज डेढ़ लाख भक्त रहे हैं। शनिवार और इतवार को 3 लाख हो जाते हैं और अकेले सावन के महीने में सवा 2 करोड़ लोग आए। महाकाल महाराज की पूजा करके गए। ये सवा 2 करोड़ आते हैं तो महाकाल महाराज की पूजा तो करते हैं, लेकिन आपको पता है उज्जैन की पूरी अर्थव्यवस्था को बदलकर रख दिया है। उज्जैन के होटलो में जगह नहीं है, नए-नए रिसोर्ट बन रहे हैं। घरों में ही होटल के कमरे बना लो भैया। श्रृद्धालु आए तो खूब भोजन भी कराओ और अपनी आमदनी भी बढ़ाओ। मुख्यमंत्री ने कहा कि 3 हजार करोड़ रुपया उज्जैन में अतिरिक्त आने वाला है। होटल रेस्टोरेंट, चाय नाश्ता, भोजन, फूल, प्रसाद सारी चीजे बिक रही है जैसे महाकाल महाराज की कृपा बरस रही हो जाएंगे।
 
इन कार्यों का लोकार्पण
 
इसके साथ ही उज्जैन जिले में 159 करोड़ 99 लाख रुपये की लागत से 7 विकास कार्यों का लोकार्पण भी किया।
 
1 हजार 937 करोड़ का आएगा निवेश 
 
मुख्यमंत्री द्वारा 15 क्लस्टर के किए गए भूमि पूजन से 1 हजार 937 करोड़ का निवेश आएगा।
 
महाकाल के प्रति ज्ञापित की कृतज्ञता
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि फसलें सूख रही थीं, खेतों में दरारें पड़ने लगीं थीं। ऐसे में मुझे एक ही रास्ता दिखा "महाकाल महाराज की शरण"। हमने महाकाल महाराज की विद्वान पंडितों के साथ पूजा-अर्चना की। उन्हीं की कृपा से आज मध्यप्रदेश में भरपूर बारिश हुई है।
हे महाकाल महाराज! अपनी कृपा ऐसे ही बरसाते रहना, सुख समृद्धि और ऋद्धि-सिद्धि हमारी जनता की जिंदगी में लाते रहना।
 
भक्त निवास के लोगो का विमोचन
 
मुख्यमंत्री ने उज्जैन में श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु ₹500 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले अत्याधुनिक सुविधायुक्त महाकालेश्वर मंदिर भक्त निवास के नाम एवं लोगो का विमोचन किया।
 
 
 
 
 
 
 
 

 

 
 
 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से