Advertisement

नज़रिया

हिमालयी जन की पीड़ा

हिमालयी जन की पीड़ा

  “कुदरती आपदा का हल्ला कर देश के बुनियादी ढांचे को निजी हाथों में बेचने का मास्टरप्लान विनाश की...
स्मृति: होने का हल्कापन

स्मृति: होने का हल्कापन

“हमारा समय झूठ के विस्तार और आधिपत्य का है। मिलान कुन्देरा ने हमें चेताया है कि झूठ के साम्राज्य से,...