Advertisement

कांंग्रेस की हार और राजीव की याद, भावुक सोनिया ने बढ़ाया हौंसला

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 25 वीं पुण्‍यतिथि पर कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने एक बेहद भावुक भाषण दिया। लगातार पराजय का सामना रही देश की सबसे पुरानी पार्टी के कार्यकर्ताओं के लिए यह भाषण एक नया संबल हो सकता है। उन्‍हें नई ऊर्जा के साथ आत्‍मविश्‍वास से उठने के लिए और मजबूती दे सकता है।
कांंग्रेस की हार और राजीव की याद, भावुक सोनिया ने बढ़ाया हौंसला

पुण्यतिथि के मौके पर कांग्रेस पार्टी की तरफ से आयोजित कार्यक्रम में सोनिया ने राजीव के सपनों के भारत को याद किया और उनके मूल्यों पर चलने की बात कही। उन्होंने कहा कि राजीव का सपना एक सशक्त और खुशहाल भारत था, जिसके लिए सबको काम करना होगा। कांग्रेस अध्यक्ष इस दौरान बोलते हुए बहुत भावुक हो गईं। सोनिया गांधी ने कहा कि नफरत औऱ आतंक का कारोबार चलाने वाली ताकतों ने राजीव जी को हमसे छीन लिया लेकिन उनके विचारों को कभी नहीं छीन पाएंगे। राजीव जी ने देश को कंप्यूटर दिया, 18 साल के लोगों को वोट देने का हक दिलाया और लोकतंत्र को मजबूत किया। भाषण के आखिरी में उनकी आवाज थोड़ी रुंहासी हो गई। इधर पूरे देश ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को उनकी पुण्यतिथि पर याद किया। कई नेताओं ने उनके स्मारक पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने पुत्र एवं पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पुत्री प्रियंका गांधी एवं दामाद रोबर्ट वाड्रा के साथ वीर भूमि में उन्हें श्रद्धांजलि दी। भारत के छठे प्रधानमंत्री राजीव गांधी की चुनाव प्रचार के दौरान तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदूर में 21 मई 1991 में हत्या कर दी गयी थी।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से
Advertisement
Advertisement
Advertisement