Advertisement

अन्य दल तय करें कि वह सपा की मदद करना चाहते हैं या नहीं : अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता विरोधी दल अखिलेश यादव ने कहा है कि...
अन्य दल तय करें कि वह सपा की मदद करना चाहते हैं या नहीं : अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता विरोधी दल अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी हर स्तर पर भाजपा का मुकाबला कर रही है। लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ही भाजपा से मुकाबला करेगी और उसे हराएगी। बाकी दल तय करें कि वह समाजवादी पार्टी की मदद करना चाहते हैं या नहीं। भाजपा लोकतंत्र को खत्म कर रही है। संविधान विरोधी कार्य कर रही है। भाजपा सरकार का हर कदम संविधान विरोधी है। लोकतंत्र के जरिए सत्ता में आने वाले भाजपा के लोग अलोकतांत्रिक हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के ऐसे मुख्यमंत्री के बारे में क्या कहा जाए, जो यह कहते हैं कि मेट्रो बनाने से, एक्सप्रेस-वे बनाने से, रिवरफ्रंट बनाने से, पार्क बनाने से वोट नहीं मिलता है। सरकार में अन्याय और अत्याचार चरम पर है। अखिलेश यादव ने कहा कि अधिकारी जितना चाहे अन्याय और अत्याचार कर लें। मन न भरा हो तो और कर लें, लेकिन इसका संदेश क्या जा रहा है यह भी सोच लें। श्री यादव ने कहा कि भाजपा सरकार आम जनता और किसानों की ही नहीं, पशु पक्षी और पेड़ पौधों की भी दुश्मन है। सरकार ने इन्वेस्टमेंट मीट के दौरान हजारों की संख्या में पेड़ कटवाए, जो गमले लगवाए थे वह चोरी हो गए। एक हजार एकड़ में एक लाख 36 हजार पेड़ लगते हैं। भाजपा सरकार बताए इन्होंने 150 करोड़ पेड़ कहां लगाए?

श्री यादव ने कहा कि सरकार मां गंगा और गोमती की सफाई के नाम पर झूठ बोल रही है। सारे गंदे नाले नदियों में गिर रहे हैं। शहरों में नाले, गंदगी, कूड़े की सफाई और सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर सरकार ने कुछ नहीं किया। भाजपा ने किसानों को धोखा दिया। बजट में आलू खरीद के लिए एक हज़ार करोड़ देने की बात कही गई है। लेकिन किसानों का आलू नहीं खरीदा गया। आलू किसान बर्बाद हो गया। सरकार बताए गन्ने का कितना भुगतान हुआ? क्या किसान की आय दोगुनी हो गई?
इसी तरह से सरकार ने निजी कंपनियों से गेहूं खरीदवा दिया और बाद में आम जनता को महंगा आटा खरीदना पड़ा। डीजल, पेट्रोल महंगा है। रसोई गैस के दाम आसमान छू रहे हैं। दूध, दाल, तेल सब महंगा हो गया।

 यादव ने कहा कि भाजपा सरकार को छह साल का हिसाब देना है। उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार 6 साल से है केंद्र में 9 साल से। नीति आयोग की रिपोर्ट में उत्तर प्रदेश विकास में 22 नम्बर पर है। एनसीआरबी के आंकड़ों में उत्तर प्रदेश में महिलाओं पर अन्याय और अपराध सबसे ज्यादा हो रहा हैं। शिक्षा और स्वास्थ्य के मामले में प्रदेश की स्थिति दयनीय है।
प्रदेश सरकार के पास अपना परमानेंट डीजीपी और मुख्य सचिव नहीं है। ब्लैक मेलिंग चल रही है। बेरोजगारी चरम पर है। सरकार बताए कि नौकरी और रोजगार को लेकर नौजवानों से किए गए वादे कितने पूरे हुए। 6 साल में सरकार ने नौजवानों को कितनी नौकरी दी। भाजपा सरकार में कई इन्वेस्टमेंट मीट हुई लेकिन जमीन पर क्या उतरा, कितना निवेश आया सरकार यह नहीं बताती है।

यादव ने कहा मै सारस पक्षी को बचाने वाले मोहम्मद आरिफ से मिलने गया तो सरकार ने सारस को छीन लिया, मैं अपने विधायक से मिलने कानपुर जेल गया तो विधायक की जेल बदल दी गयी। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मोहम्मद आजम खान साहब को उनके परिवार के साथ सरकार प्रताड़ित कर रही है, क्योंकि वह समाजवादी हैं। क्या यही लोकतंत्र है। कोई खिलाफ पोस्टर लगा दे तो भाजपा सरकार एफ आई आर करा देती है, कोई पत्रकार वादा पूरा करने का सवाल पूछ ले तो सरकार जेल में डाल देती है।

आखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी का मानना है कि सभी त्योहारों पर छुट्टी होनी चाहिए। विश्वकर्मा जयंती पर भी छुट्टी हो और निषादराज की जयंती पर भी छुट्टी हो। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के पास महंगाई, बेरोजगारी, किसानों की समस्या और सांड़ से हो रही मौतों पर कोई जवाब नहीं है इसीलिए वह ध्यान भटकाने के लिए दूसरे तरह के मुद्दे पर बहस करती है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से
Advertisement
Advertisement
Advertisement