Advertisement
मैगज़ीन डिटेल

आवरण कथा/डेटिंग ऐप: बेवफाई का बाजार

वर्जनाएं तोड़ने की ललक, नई-नई जिज्ञासाएं और दमित इच्छाओं की पूर्ति का सहज साधन उपलब्ध कराने के वादे के साथ डेटिंग ऐप का बाजार अब कस्बों और दूर-दराज के इलाकों तक फैला

बिहार: पुल की सियासी पोल

विपक्षी दलों के बीच पुल बना रहे नीतीश कुमार के राज्य में टूट रहे हैं पुल

महाराष्ट्र: पवार का पावर गेम

राकांपा प्रमुख शरद पवार का फैसला संतुलन साधने वाला है या अजित पवार को ठिकाने लगाया गया

पंजाब: शहनाइयों के सियासी सुर

पंजाब में आम आदमी पार्टी के नेताओं की शादी को विपक्ष बना रहा है मुद्दा, निजी रिश्तों पर जुबानी जंग जारी

कश्मीरः सरकार ने छीनी आंखें, जज्बे ने सिर उठाया

आंखों की रोशनी जाने के बाद भी इन्शा ने अपनी दुनिया अंधेरे में नहीं जाने दी, उसके हौसले से उसका जीवन रोशन है

आवरण कथा/इंटरव्यू/सिबिल शिडेल: ‘‘बेवफाई का सुरक्षित और गोपनीय ठिकाना है ग्लीडेन’’

ग्लीडेन उन लोगों को सुरक्षित और विश्वसनीय मंच प्रदान करता है, जो एक रिश्ते में होने के बाद भी नए रिश्ते में संभावनाएं तलाशते हैं

आवरण कथा/नजरिया: पुरुष के लिए जो मर्दानगी है, स्त्री के लिए वही शर्मिंदगी

स्त्री जिस दिन खुद के लिए नियम बनाएगी, उस दिन समाज का पाखंड चूर-चूर हो जाएगा

आवरण कथा/इंटरव्यू/मृदुला गर्ग: ‘‘जो पुरुष खुद आजाद नहीं है, उससे आजादी का क्या मतलब’’

मेरे लिए नारी स्वतंत्रता और पुरुष स्वतंत्रता में कोई अंतर नहीं है

आवरण कथा/नजरिया: सामाजिक संरचना की समझ जरूरी

पौराणिक कहानियों से लेकर इतिहास तक विवाहेतर संबंधों और बहुविवाह की खूब कहानियां प्रचलित हैं

आवरण कथा/नजरिया: विवाहेतर संबंध में नैतिकता

इस तरह के रिश्तों को समाज में मान्यता नहीं दी जा सकती, न ही निकट भविष्य में ऐसा होने जा रहा है

आवरण कथा/फिल्मी अफसाना: रुपहले परदे पर प्रेम त्रिकोण

एक्सट्रा मैरिटल अफेयर के पीछे के मनोविज्ञान को अभिव्यक्त करने के लिए हिंदी सिनेमा में कई फिल्में बनी हैं। इन फिल्मों पर एक नजर

टेनिस: अब तक 23

नोवाक जोकोविच इस साल फ्रेंच ओपन में टेनिस का 23वां ग्रैंड स्लैम जीत कर रोजर फेडरर और राफेल नडाल से आगे निकल गए

सप्तरंग

ग्लैमर जगत की हलचल

राजनीति: प्रतिपक्ष है चुनौती

विपक्षी एकता की कोशिश से ज्यादा मोर्चा इससे तय होगा कि किसके पास वैकल्पिक एजेंडा

पुस्तक समीक्षाः तथ्य, सत्व और नायकत्व

वाणी से प्रकाशित इन तीनों किताबों के विषय भले ही अलग हों, पर इनके बीच एक रागात्मक रिश्ता जैसा है

पुस्तक समीक्षाः स्त्री आजाद नहीं, मुक्त की जाती है

हाल के दिनों में ऐसे रिश्तों पर बात की जाने लगी है जिनमें स्त्रियां बिना मर्जी के घुट-घुट कर अपना जीवन जी रही हैं

प्रथम दृष्टि: गंगा किनारे मोरा शहर

साल दर साल लोग लू से मर रहे हैं, शीतलहरी का शिकार हो रहे हैं, बाढ़ और सूखे से त्रस्त हो रहे हैं। फिर भी हमारी प्राथमिकताएं नहीं बदल रही हैं। विकास इस कीमत पर नहीं किया जा सकता कि वह प्राकृतिक असंतुलन पैदा कर दे

संपादक के नाम पत्र

भारत भर से आई पाठको की चिट्ठियां

शहरनामा/सीतामढ़ी

भगवान राम की पत्नी सीता की प्रकाट्य स्थली