Advertisement
मैगजीन
27 जून 2022 | Jun-27-2022

आवरण कथा/नीतीश राजनीति: नए तेवर के राज-रंग

नीतीश की ‘बीच की राजनीति’ में कई संकेत छिपे हैं, जिसका भाजपा को भी भान है लेकिन 2024 के लोकसभा चुनावों तक अपने एजेंडे के साथ बने रहना उसकी मजबूरी, जदयू नेता को भी इसका एहसास शिद्दत से है, इस नए सियासी जोड़तोड़ का क्या हो सकता है नतीजा, इस पर एक नजर

पटना से गिरिधर झा

13 जून 2022 | Jun-13-2022

आवरण कथा/विवाह में बलात्कार: स्त्री–तन के सवाल

वैवाहिक रिश्तों में बलात्कार को अपवाद मानने वाली भारतीय दंड सहिता की धारा पर एक खंडित न्यायालयी फैसले से स्त्री स्वतंत्रता, रति-सुख, यौनिकता पर बहस का नया आगाज

आकांक्षा पारे काशिव, आवरण कथा के सभी चित्रः संजु दास

आउटलुक 30 मई 2022 | May-30-2022

आवरण कथा/आलेखः नए साम्राज्यवादी

बड़ी टेक्नोलॉजी कंपनियां न सिर्फ अरबों लोगों का जीवन प्रभावित कर रही हैं, बल्कि दूसरी कंपनियों और यहां तक कि सरकारों की भी बाहें मरोड़ने से बाज नहीं आतीं, पसर रहा है नव-उपनिवेशवाद

सैफ शाहीन नीदरलैंड से

आउटलुक 16 मई 2022 | May-16-2022

आवरण कथा/पंकज त्रिपाठी: कालीन भइया की देसज कथा

मायानगरी में अनूठे कलाकार पंकज त्रिपाठी की बिहार के दूर देहात से परदे पर छाने की अभिनव यात्रा

बेलसंड (गोपालगंज) से गिरिधर झा

आउटलुक 2 मई 2022 | May-02-2022

आवरण कथा/ट्रांसजेंडर बिरादरीः कामयाबियों की महाभारत

समाज, परिवार, सरकार सबकी उपेक्षा की शिकार ट्रांसजेंडर बिरादरी के लोगों ने अपने दर्द भरे मगर कामयाब सफर मं, ऐसे पताके फहराए, जो यकीनन बेमिसाल

राजीव नयन चतुर्वेदी

18 अप्रैल 2022 | Apr-18-2022

आवरण कथा/ कांग्रेस: यक्ष प्रश्न से सामना

लगातार चुनावी हार से गांधी परिवार के नेतृत्व पर सवाल तीखे हुए, मगर पार्टी में जान फूंकने के सूत्र शायद अभी भी धुंधलके में, ऐसे में कौन बनेगा तारणहार

हरिमोहन मिश्र

आउटलुक 4 अप्रैल 2022 | Apr-04-2022

जनादेश 2022/आवरण कथाः विजय सूत्र और सूत्रधार

चार राज्यों, खासकर सियासी तौर पर सबसे अहम उत्तर प्रदेश में दोबारा जीत दर्ज करके भाजपा ने जता दिया कि उसके चुनावी जीत के सूत्रों की काट तलाशने में विपक्ष है नाकाम

हरिमोहन मिश्र

आउटलुक 21 मार्च 2022 | Mar-21-2022

जनादेश 2022/आवरण कथा: गद्दी के दावेदार

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में नई सियासत की राह खुलने की संभावना प्रबल, इसी वजह से लखनऊ की कुर्सी हर दावेदार के लिए ही नहीं, देश के लिए भी है खास

हरिमोहन मिश्र

Advertisement
Advertisement
Advertisement